Monday, February 3, 2020

SMS Full Form - SMS Ka Full Form क्या होता है?

SHARE
SMS Full Form - SMS Ka Full Form क्या होता है आप हमारा यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं मतलब की आपको sms full form के बारे में नहीं पता है लेकिन आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि यहां पर हम आपको sms ka full form क्या होता है इसके बारे में तो बताएंगे पर साथ ही साथ sms की पूरी जानकारी भी देंगे। तो आप हमारा यह आर्टिकल पूरा लास्ट तक पढ़े आपकी इस बारे में जो भी समस्याए है दूर हो जाएगी।

एक समय था जब s.m.s. के बगैर मोबाइल आधा अधूरा सा लगता था क्योंकि उस समय में sms एक प्रसिद्ध संदेश सेवा हुआ करती थी और लोगों के ज्यादातर काम एसएमएस के जरिए ही पूरे हो जाते थे। लेकिन आज के टाइम में WhatsApp जैसी फ्री मैसेजिंग एप होने की वजह से लोग SMS को भुला ही चुके हैं फिर भी लोग SMS Full Form के बारे में जानने के लिए उत्सुक है। वैसे ज्यादातर लोगों को इसके बारे में पता ही होगा लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें SMS Ka Full Form पता नहीं।

आज का युग टेक्नोलॉजी का युग है और इस टेक्नोलॉजी के चलते हमारा जीवन भी मॉडर्न होता जा रहा है पहले लोग बातचीत करने के लिए भी Sms pack के लिए पैसे खर्च करते थे और कोई भी मैसेज भेजना हो वह s.m.s. के जरिए ही भेजते थे। लेकिन आज के समय में whatsapp, facebook जैसे सोशल मीडिया के चलते एसएमएस का यूज़ पहले से कई गुना कम हो गया है फिर भी आज के टाइम में प्रतिदिन 15 billion से भी अधिक sms सेंड होते हैं। और यही कारन है की लोग what is the full form of sms के बारे में जानना चाहते है।

SMS Full Form - SMS Ka Full Form
SMS Full Form

SMS Full Form - जानिए SMS Ka Full Form क्या होता है?

SMS Ka Full Form होता है Short Messaging Service जिसे हिंदी में कहा जाता है संक्षिप्त संदेश सेवा जिसे text message भी कहा जाता है जो शुरुआत में यह केवल GSM के लिए ही बनाया गया था और समय के साथ-साथ इसे CDMA के लिए भी बनाया गया और मौजूदा टाइम में आप इसका यूज सभी प्रकार के मोबाइल में कर सकते हैं और सभी टेलीकॉम कंपनीया इस फिशर का समर्थन करती है।

SMS (Short Messaging Service) जैसा नाम वैसा काम मतलब sms कि यह सेवा आपको 160 characters की लिमिट में है एक मैसेज भेजने की अनुमति देता है अगर मैसेज के characters 160 से ऊपर चले जाते हैं तो यह लंबे मैसेज खुद ही कई हिस्सों में डिवाइड हो जाएगे और आपके मैसेज का चार्ज भी उसी हिसाब से कटेगा हालांकि अभी के टाइम में एसएमएस के चार्ज पहले के मुकाबले बहुत कम है फ्री भी बोल सकते हैं।

यह पोस्ट भी पढ़
AM और PM का मतलब क्या होता है | AM and PM full form in hindi
☞ DP Ka Full Form क्या होता है ? DP Full Form
☞ OTP Full Form: जानिए OTP Ka Full Form क्या होता है?

आज के समय में मैसेज भेजने के लिए आप whatsapp का यूज ज्यादा करते होंगे इसका मतलब यह नहीं है कि s.m.s. का क्रेज अब खत्म हो गया है। msg full form के बारे में आप यहा पर पढ़ने आए है मतलब की आज भी आप sms का यूज करते है और आज भी आपको किसी कंपनी से आने वाला मैसेज sms के जरिए ही मिलता होगा जैसे नेटवर्क ऑपरेटर, बैंक, इंश्योरेंस कंपनी, इत्यादि यह कंपनियां अपनी सर्विस की जानकारी एसएमएस के जरिए ही देती है यहां तक कि OTP जैसी जरूरी इंफॉर्मेशन भी उपयोगकर्ताओं को sms जरिए ही भेजी जाती है।

SMS Meaning : SMS का मतलब कया होता है?

sms meaning यानी sms का मतलब लगभग सभी लोगों को पता ही होगा की sms को आप अपने मोबाइल से किसी दूसरे के मोबाइल में उपलब्ध नेटवर्क के जरिए Short text message भेज सकते हैं। जैसा कि इसके नाम से ही हम समझ सकते हैं कि इसमें हम छोटे संदेश ही लिख सकते हैं इसका अर्थ यह है कि इसमें कोई बिना काम की बेकार बातें नहीं लिखी जाती क्योंकि आप फालतू की बकवास बातें लिखने जाओगे तो आपके characters की लिमिट खत्म हो जाएगी और आप मुद्दे की बात नहीं लिख सकेंगे इसीलिए इसमें सीधे काम की बात ही होती है।

SMS कैसे भेजते हैं यह तो आप सभी को पता ही होगा फिर भी जिन लोगों को नहीं पता उनको मैं बता देता हूं क्योंकि आप SMS Full Form के बारे में जानकारी लेने आए हैं तो मेरा भी फर्ज बनता है कि मैं आपको sms meaning की पूरी जानकारी भी दू हालांकि s.m.s. करने के लिए आपको ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं है बस आपके पास एक मोबाइल फोन होना चाहिए बाकी सभी फोन में एसएमएस का एप्लीकेशन अवेलेबल होता ही है जिसके जरिए आप sms भेज सकते हैं। SMS भेजनेवाला Sender कहलाता है और प्राप्त करने वाला Receiver कहलाता है। एसएमएस भेजने के लिए आपको s.m.s. लिखने के बाद उसे सामने वाले यानी कि receiver के नंबर पर सेंड बटन को प्रेस करके भेज देना है। आपका यह मैसेज कुछ ही सेकेंड के अंदर रिसीवर को मिल जाएगा।
SMS कैसे काम करता है ?

टेलीकॉम कंपनियों का सभी राज्यों में sms Center number अलग होता है जैसे आइडिया का एसएमएस सेंटर नंबर गुजरात में अलग और दिल्ली में भी अलग, किसी को भी यह sms के जरिए भेजा गया मैसेज पहले आप के टेलीकॉम कंपनी के sms center में पहुंचता है फिर वहां से अगर receiver यानी कि s.m.s. प्राप्त करने वाला यूजर अभी नेटवर्क एरिया में है तो उसे वह sms तुरंत ही प्राप्त हो जाएगा अन्यथा यह एसएमएस सेंटर में सेव रहेगा जब तक वह यूजर नेटवर्क एरिया में नहीं आ जाता।

अगर आपका फोन कई दिनों से बंद पड़ा है यानी कि स्विच ऑफ है या तो काफी समय से नेटवर्क से बाहर है उस समय आप के मोबाइल नंबर पर आने वाले सभी मैसेज sms center में जमा होते हैं और जैसे ही आपका फोन एक्टिव होता है तो धड़ाधड़ एक साथ बहुत सारे मैसेज आपके नंबर पर आने लगते हैं क्योंकि आपका फोन आपके नजदीक के किसी भी टेलीकॉम टावर से निरंतर कनेक्ट होता है और आपके द्वारा मैसेज सेंड करने पर उस मैसेज की जानकारी रेडियो वेव के जरिए एसएमएस सेंटर पर जाती है। उसके बाद अगर s.m.s. प्राप्त करने वाला व्यक्ति उसके नजदीकी टावर से कनेक्ट होगा तो वह मैसेज उसे तुरंत ही मिल जाएगा।

SMS का इस्तेमाल कम होनेका रीजन क्या है?

sms का यूज़ कम होने का कारण है दूसरे Messaging Apps में मिलने वाले ज्यादा फीचर जिसमें आप Emojis, Video, Audio, Photo, Document, इत्यादि जैसी फाइलें भी सेंड कर सकते हैं। और यही काम s.m.s. पर करना नामुमकिन है क्योंकि SMS पर आप सिर्फ लिखकर यानी text ही सेंड कर सकते हैं किसी भी तरह की फाइलें एसएमएस से नहीं भेजी जा सकती है।

हालांकि कि SMS का यूज़ कम जरूर हुआ है लेकिन पूरी तरह से बंद नहीं हुआ है क्योकि दूसरे मैसेजिंग ऐप इस्तेमाल करने के लिए जरूरत पड़ती है स्मार्टफोन की जो आज भी बहुत से लोग इसे यूज करना नहीं जानती है। और Keypad Phone से इसकी प्राइस भी ज्यादा होती है। और भारत के ज्यादातर लोग गरीबी रेखा में आते हैं जो इसे खरीदना इनके लिए मुश्किल काम है। कई लोगों के पास सभी चीजें होने के चलते भी sms का यूज करते हैं वह इसीलिए की ज्यादातर Messaging Apps से आप मैसेज तभी कर सकते हैं जब सामने वाले व्यक्ति के फोन में भी वही मैसेजिंग ऐप इंस्टॉल हो, पर SMS से मैसेज आप किसी को कहीं पर भी भेज सकते हैं क्योंकि एसएमएस सभी फोन में पहले से ही अवेलेबल होता है।

SMS का इतिहास:

sms की यह सर्विस का आरंभ आज से ठीक 28 साल पहले हुआ था जो आज इस सर्विस के 28 साल पूरे हुए हैं। और दूसरे Messaging Apps से यह s.m.s. सेवा Safe मानी जाती है। 2 दिसंबर 1992 के टाइम में नील पापवर्थ ने पहला SMS मैसेज जारी किया था। और उसने वोडाफोन कंपनी के उस टाइम के निर्देशक रिचर्ड जेविश को क्रिसमस से पहले वार्म क्रिसमस (Warm Christmas) का मैसेज सेंड किया था।

sms की सेवा शुरू होने से टेलीकॉम इंडस्ट्री में एक नई क्रांति का आरंभ हुआ था। इस सेवा के शुरुआती टाइम में sms में 160 letter की सीमा में ही मैसेज भेज सकते थे उस टाइम इसे बढ़ाने का कोई way नहीं था। और धीरे-धीरे नई तकनीकी परिवर्तन से यह सीमा को भी समाप्त कर दिया गया।

प्रथम sms सर्विस देने वाली कंपनी वोडाफोन थी जो 1994 में इसका आरंभ किया था। और इस सेवा के आरंभ के दौर में यह कंपनी के नेटवर्क तक ही मर्यादित थी लेकिन कुछ सालों के बाद यानी 1999 में एक नए तकनीकी परिवर्तन से एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क पर मैसेज भेजा जाना मुमकिन हुआ। और लगभग 22 वर्षों तक यह सेवा पूरे विश्व में पॉपुलर रही। बाद में दूसरे मैसेजिंग एप के आगमन से इनका यूज कम होता गया। लेकिन आज भी बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो s.m.s. का यूज करते हैं।

अगर हम मोबाइल फोन की बात करें तो सबसे पहले मोबाइल फोन में sms की फैसिलिटी नोकिया कंपनी ने देना स्टार्ट किया था। फिर धीरे-धीरे हर एक मोबाइल कंपनी ने अपने मोबाइल फोन में यह फैसिलिटी देना स्टार्ट किया। और तब एंड्राइड मोबाइल नहीं थे तब बेसिक मोबाइल में एसएमएस के फिशर का अधिक महत्व था क्योंकि तब लोगों को अपने मोबाइल बैलेंस से अधिक SMS बैलेंस की चिंता रहती थी ताकि कोई भी फेस्टिवल हो या किसी का बर्थडे लोग sms के द्वारा विश करना नहीं भूलते थे।

SMS के फायदे:

वैसे sms के फायदे तो बहुत है जिसके कारण यूजर sms को ज्यादा पसंद करते हैं दूसरे sms प्लेटफार्म के तुलना में।

  • sms करने के लिए आपको इंटरनेट की आवश्यकता नहीं रहती है जबकि दूसरे मैसेजिंग एप जैसे व्हाट्सएप में आप बिना इंटरनेट के मैसेज नहीं भेज सकते हैं।
  • sms आप कभी भी कर सकते हैं साहे receiver यानी कि एसएमएस प्राप्त करने वाला नेटवर्क एरिया में है या नहीं जबकि कॉल करने के लिए नेटवर्क का होना जरूरी है।
  • आप जो भी मैसेज सेंड करते हो वह रिसीवर को तुरंत ही मिल जाता है अगर वह नेटवर्क एरिया में हुआ तो।
  • किसी को कॉल करने पर अगर वह आपका कॉल नहीं लेता है तो आप अपनी बात को sms के जरिए भी बता सकते हैं।
  • कई बार ऐसा होता है कि आप किसी काम में busy है और कॉल रिसीव नहीं कर पाते हैं। उस समय आप एक sms छोड़ कर बता सकते हैं कि अभी आप busy हैं।

Conclusion

तो फ्रेंड्स i hope कि अब आपको जानकारी मिल गई होंगी कि sms ka full form क्या है. यहां पर हमने आपको sms full form और पूरा sms meaning के बारे में समझाने की कोशिश की है। आशा है यह माहिती आपके लिए यूज़फुल रहेगी। और मैं यहां पर ऐसे ही नए-नए टॉपिक से जुड़े Information के आर्टिकल शेयर करता रहता हूं तो और अगर आप ऐसे ही दूसरे पोस्ट पाना चाहते है तो हमें E-mail से Subscribe करिए और साथ ही साथ अपने सुझाव देने के लिए Comment कीजिए और इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा share करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसकि जानकारी मिल सके।

धन्यवाद:
SHARE

Author: verified_user

0 comments: