Tuesday, March 1, 2022

All 5 Fingers Name in Hindi-English - उंगलियों के नाम

SHARE
fingers name in hindi-english : इस लेख में सभी ungliyon ke naam बताए गए हैं और fingers name के साथ-साथ सभी ungali के बारे में विस्तार पूर्वक बताया गया है।

फ्रेन्डस आज हम शरीर के एक ऐसे अंग के बारे में जानेंगे जिनका हमारी लाइफ में और हमारे रोजाना दैनिक कार्यों में खास भूमिका रहती है। हम बात कर रहे हैं उंगलियों (fingers) के बारे में, यहां पर हम hand finger name और leg fingers name दोनों के बारे में चर्चा करेंगे।

All Five Fingers Name in Hindi-English - उंगलियों के नाम
Fingers Name - उंगलियों के नाम

वैसे हथेली में कुल पांच उंगलियां होती हैं यह तो सब जानते हैं। पर इन five fingers name in english और hindi एवं इन उंगलियों की विशेषताएं सभी को नहीं पता होते हैं। तो इन 5 fingers name को तस्वीर के साथ दिखाएंगे साथ ही उंगलियों के बारे में काफी रोचक और दिलचस्प जानकारियों के बारे में भी जानेंगे।

क्योंकि हमारा हाथ हमारे लिए बहुत कीमती है और हमारी उंगलियां हमारे हाथों के लिए बहुत जरूरी होती है, उंगलियों के बिना हमारा हाथ किसी काम का नहीं रहता है। आज के समय में आपने देखा होगा कि मोबाइल फोन के सिक्योरिटी लॉक में भी फिंगरप्रिंट सेंसर का इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि सिक्योरिटी की दृष्टि से फिंगरप्रिंट काफी अच्छा होता है। तो चलिए अब जानते हैं finger in hindi name और fingers name in english

Five Fingers Name In Hindi and English

मानव शरीर में प्रत्येक अंग का एक विशिष्ट कार्य होता है। और हमें सभी मानव शरीर के अंगों के नाम याद होने चाहिए पर आज के टाइम में बहुत कम लोग होंगे जिन्हें सभी नाम याद होंगे। लेकिन हमें हमारी बॉडी से जुड़े हर अंग के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

उंगलियों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में

  • अंगूठा - Thumb
  • तर्जनी उंगली - Index Finger
  • मध्यमा उंगली - Middle Finger
  • अनामिका उंगली - Ring Finger
  • कनिष्ठा उंगली - Little Finger

No English Diction Hindi
1 Thumb थम्ब अंगूठा
2 Index Finger इंडेक्स फिंगर तर्जनी उंगली
3 Middle Finger मिडिल फिंगर मध्यमा उंगली
4 Ring Finger रिंग फिंगर अनामिका उंगली
5 Little Finger लिटिल फिंगर कनिष्ठा उंगली

All  Five Fingers Name in Hindi-English - उंगलियों के नाम

यह पोस्ट भी पढ़ें

उंगलियों के बारे में कुछ सामान्य जानकारी

ऊपर हमने name of the fingers हिंदी और अंग्रेजी में जाने। अब आइए जानते हैं इन उंगलियों के बारे में कुछ सामान्य और रोचक जानकारी।

1. Thumb - अंगूठे

Thumb: अगर हम अंगूठे की बात करें तो सभी उंगलियों में अंगूठे की भूमिका भी बहुत महत्वपूर्ण होती है। क्योंकि सभी उंगलियों में सबसे शक्तिशाली अंगूठा होता है। अंगूठे के सहारे के बिना हमें किसी भी चीज़ को उठाना मुश्किल होगा। अंगूठे की सहायता से हम वस्तुओं को पकड़ने, गिराने, फेंकने जैसे कार्यों को बहुत ही सरलता से कर सकते हैं। यहां तक की फिंगरप्रिंट लेने में भी ज्यादातर अंगूठे का ही उपयोग होता है। तो चलिए बात करते हैं अंगूठे से जुड़े कुछ अहम एक्ट फैक्ट्स के बारे में।

  • अंगूठे की संरचना उंगलियों से भिन्न होती है। अंगुठे में मात्र दो भाग होते हैं। जबकि अंगुलियों में तिन भाग होते हैं।
  • बाकी उंगलियों के मुकाबले अंगूठे का आकार भी छोटा होता है। लेकीन अंगूठा बहुत काम का होता है।
  • अगर आपने गौर नहीं किया तो अभी कीजिए अपने अंगूठे की मदद के बिना शर्ट के बटन बंद करने का प्रयास करें। और फिर आप हमे कमेंट के जरिए बताइए कि आपका यह प्रयास कैसा रहा।
  • अगर आपने कभी गौर किया है, तो आपने देखा होगा कि अंगूठे की दिशा भी बाकी उंगलियों के विपरीत होती है।
  • अगर इस पर भी गौर नहीं किया है तो अभी कीजिए। हथेली की पांचों उंगलियों को एक लाइन में सीधे रख कर देखें। बाकी उंगलियों से अंगूठे की दिशा विपरीत होगी।
  • इसके अलावा अंगूठे का movement भी दुसरी उगुलियों से अधिक होता है। अगर इस पर भी गौर नहीं किया है तो अभी कीजिए। आप बारी-बारी सभी उंगलियों को घुमाइए, देखेंगे कि आप उंगलियों के मुकाबले अपने अंगूठे को ज्यादा घुमा सकते हैं।

अंगूठा हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। अपना अंगूठा अग्नि तत्व से जुड़ा हुआ है जीसे हमारे व्यक्तित्व का आईना माना जाता है। क्योंकि यह हमारे व्यक्तित्व को भी दर्शाता है। हमारे अंगूठे को देखकर बॉडी लैंग्वेज विशेषज्ञ हमारे बारे में बहुत कुछ बता सकते हैं। हस्तरेखा जानने वाले लोग हमारे अंगूठे को देखकर हमारे व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ बता सकते हैं।

एक अनुमान के मुताबिक छोटे, कमजोर या पतले अंगूठे वाले लोगों की बौद्धिक क्षमता बहुत कम होती है। जबकि एक अधिक विकसित अंगूठे वाली व्यक्ति की बौद्धिक और मानसिक विशेषताएं उतनी ही अधिक होंगी।

पश्चिमी देशों में अंगूठा दिखाने का अर्थ सौभाग्य की कामना करना होता है और कई देशों में अंगूठा दिखाने का तात्पर्य नाराज़ करना या अपने काम को करने से मना करना भी होता है।

Related Post

2. Index Finger - तर्जनी उंगली

Index Finger: अंगूठे के पास वाली उंगली, जिसे तर्जनी (Index Finger) कहा जाता है। अंगुठे के साथ-साथ इस अंगुली की भी खास भूमिका रहेती है। दूसरे कार्यों के साथ इस तर्जनी अंगुली के जरिए ही आप लिखने के लिए कलम भी पकड़ते हैं। तो चलिए बात करते हैं index finger in hindi में इस उंगली से जुड़े कुछ फैक्ट्स के बारे में।

  • अंगूठे के पास वाली उंगली, जिसे तर्जनी (Index Finger) कहा जाता हैं। इसे हम पहली उंगली भी कहते हैं।
  • सभी उंगलीयो के कुल 3 भाग होते हैं।
  • लिखते वक्त हम अपनी तर्जनी उंगली का उपयोग कलम/पेन को पकड़ने के लिए भी करते हैं। तर्जनी ऊँगली के बिना हम कलम को सही से पकड़ नहीं सकते.
  • पौराणिक कथाओं के अनुसार विष्णु भगवान इस उंगली में ही अपना सुदर्शन चक्र धारण करते हैं।
  • यह उंगली आमतौर पर किसी दिशा या वस्तु की और इशारा करने के लिए भी प्रयोग की जाती है।
  • तर्जनी और अंगूठे के स्पर्श से किए गए ध्यान मुद्रा से मन की शुद्धि होती है और हमारी एकाग्रता बढ़ती है।
  • योग करते वक्त हम अपनी तर्जनी का प्रयोग विभिन्न आसनों को करने के लिए सबसे अधिक करते हैं।
  • यह उंगली हमारे शरीर के वायु तत्व से जुड़ी होती है। ऐसा कहा जाता है कि अगर किसी के पेट में दर्द है या आंत से जुड़ी कोई प्रॉब्लम है तो इस उंगली को हल्के से रगड़ने से हमें जरूर फायदा होगा। यह उगली हमारे आंत्र पथ से जुडी होती है।

3. Middle Finger - मध्यमा उंगली

Middle Finger: तर्जनी और अनामिका उंगली के बीच वाली उंगली यानी तीसरी उंगली जिसे मध्यमा (Middle Finger) कहा जाता हैं। मध्यमा उंगली की भी खास भूमिका रहेती है। तो चलिए बात करते हैं इससे जुड़े कुछ फैक्ट्स के बारे में।

  • सभी उंगलियों मे मध्यमा उंगली बड़ी होती है।
  • और यह सभी उंगलियों के बीच में होने के कारण इसे मध्यमा कहते हैं।
  • यह उंगली आकाश तत्व की घोतक मानी जाती है।
  • इस उंगली का प्रयोग अंगूठे से चुटकी बजाते समय भी किया जाता है।
  • कहा जाता हे कि इस उंगली का संबंध हमारे शरीर के रक्तचाप से जुड़ा हुआ है यानी इस उंगली पर हल्के से मसाज करने से हमारे रक्त संचार प्रणाली में सुधार होता है और चक्कर आने जैसी समस्या से राहत मिलती है।
आपको यह बात जरूर पता होगी कि इस उंगली का इस्तेमाल किसी को नीचा दिखाने के लिए भी किया जाता है।

Related Post

4. Ring Finger - अनामिका उंगली

anamika ungli: मध्यमा उंगली के पास वाली यानी चौथी उंगली जिसे हम अनामिका (Ring Finger) कहते हैं। इसे Ring Finger इसीलिए भी कहा जाता हैं चूंकि लोग इसी उंगली में अंगूठी/रिंग पहनते हैं। तो चलिए बात करते हैं इससे जुड़े कुछ फैक्ट्स के बारे में।

  • अनामिका और तर्जनी उंगली की लंबाई एक समान होती है।
  • ज्यादातर इसी उंगली में ही लोग अंगूठी पहनते हैं। क्योंकि अनामिका उंगली में रिंग पहनना शुभ माना जाता है।
  • इस उंगली का धार्मिक महत्व भी है क्योंकि इस उंगली का यूज़ विशेष रूप से पूजा पाठ के दौरान एवं तिलक लगाने में भी किया जाता है। अनामिका उंगली से टीका लगाना शुभ माना जाता है।
  • शास्त्रों में इस उंगली को सबसे पवित्र माना गया है। अनामिका कई लड़कियों के नाम भी होते हैं।

5. Little Finger - कनिष्ठा उंगली

Little Finger: फ्रेंड्स! कनिष्ठा उंगली जो हमारी हथेली की आखिरी और पांचवें नंबर की उंगली कहेलाती है जिसे कनिष्ठा (Little Finger) कहा जाता है। हमारी हथेली में इस उंगली की भी खास भूमिका रहेती है। तो चलिए बात करते हैं इससे जुड़े कुछ फैक्ट्स के बारे में।

  • कनिष्ठा उंगली सभी उंगलियों में से लंबाई में सबसे छोटी होती है।
  • हिंदू मान्यताओं के अनुसार कनिष्ठा उंगली जल तत्त्व का प्रतिनिधित्व करती है।
  • पुराणों में लिखा है कि भगवान श्री कृष्ण ने अपनी इसी अंगुली पर गोवर्धन पर्वत को उठाया था।
  • कहा जाता हे कि छोटी उंगली यानी कनिष्ठा उंगली का संबंध हमारी किडनी और सिर से होता है। अगर आपके सिर में दर्द हो तो इस उंगली को हल्का हल्का दबाने से सिरदर्द मे आराम मिलता है।
  • ज्यादातर लोग इस कनिष्ठा अंगुली के नाखून अपने शौक़ के लिए बड़े रखना पसंद करते हैं।


Conclusion

यहां पर हमने आपको five fingers name उंगलियों के नाम के बारे में बताया और इन all fingers name को एक टेबल के जरिए बहुत ही अच्छी तरह से समझाने की कोशिश की है जिसमें आपको fingers in hindi में नाम बताए गये है साथ ही इन सभी उंगलियों के बारे में कुछ जानकारियां देने की कोशिश भी की है।

तो फ्रेंड्स! आपको हमारा यह लेख कैसा लगा आप हमें कॉमेंट के जरिए जरूर बताइएगा, आपके विचार हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। धन्यवाद!
SHARE

Author: verified_user

I Am The Founder And Owner Of This Blog And I Write Articles In Hindi On Oll Topics In This Blog. So That People Who Read Hindi Can Be Helped.

0 comments: