Saturday, June 26, 2021

Rituo Ke Naam - 6 seasons name in hindi-english - (ऋतुओं के नाम)

SHARE
ऋतुओं के नाम (seasons name) के इस लेख में seasons name in hindi और seasons name in english में सभी ritu ke naam बताए गए हैं। साथ ही उन सभी ऋतुओं के बारे में विस्तार पूर्वक बताया गया है।
Rituo Ke Naam - 6 seasons name in hindi-english - (ऋतुओं के नाम)
season name - ऋतुओं के नाम
indian seasons name - 6 seasons in india भारत की ६ rituo ke naam और उस बारे में सामान्य जानकारी दें उससे पहले हम आपको बता दें कि मुख्य तीन ऋतु सर्दी, गर्मी और बरसात है। जबकि भारत में पूरे वर्ष में कुल 6 ऋतुए आती है और हर एक ऋतु दो माह तक रहती है। इसी प्रकार एक साल के बारह महीने में इन ऋतुओं को 6 भागों में बांटा गया है।

six seasons in india : इन्हीं ऋतुओं के अनुसार भारत के प्रमुख त्यौहार भी आते हैं जैसे शरद ऋतु के आगमन के साथ दिवाली का त्योहार आ जाता है। वैसे ही शरद ऋतु के समापन के साथ होली का त्योहार आ जाता है और दूसरी सीजन शुरू हो जाती है। इसी प्रकार ऋतुओं का परिवर्तन बना रहता है।

इससे पहले के लेख में हमने जाना था दिशाओं के नाम और अगली पोस्ट में हम जानेंगे ग्रहों के नाम और जिस तरह से हमें दिनों के नाम और महीनों के नाम याद होते हैं। वैसे ही ऋतुओं के नाम भी याद होने चाहिए, तो चलिए जानते हैं 6 ritu ke naam hindi mein और अंग्रेजी में all season name in hindi-english

Seasons Name - ऋतुओं के नाम हिंदी और अंग्रेजी में

अगर हम अंग्रेजी कैलेंडर की बात करें तो जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया एक साल के बारह महीनों में कुल तिन ऋतुए होती है।
 
  • गर्मी (Summer) ग्रीष्म ऋतु
  • सर्दी (Winter) शीत ऋतु/शिशिर ऋतु
  • बरसात (Rainy seasons) वर्षा ऋतु

लेकिन हिंदी, हिंदू कैलेंडर विक्रम संवत् में कुल 6 ऋतुएं होती है। जिनके नाम नीचे बताइए गई है।
No. Hindi Name English Name
1 वसंत/बसंत ऋतु Spring Season
2 ग्रीष्म ऋतु Summer Season
3 वर्षा ऋतु Rainy Season
4 शरद ऋतु Autumn Season
5 हेमंत ऋतु Pre Winter Season
6 शीत/शिशिर ऋतु Winter Season
Related Post

six season name in english : इंडिया का मौसम दूसरे देशों से बिल्कुल भिन्न है। जैसे कई देश ऐसे भी हैं जहां पूरे बारह महीने या तो अधिक गर्मी रहती है या तो ज्यादा सर्दी लेकिन भारत में मौसम सदैव चेंज होता रहता है। जिससे माहौल भी शांत और सुहाना बना रहता है जिसका आनंद कुछ अलग ही होता है।

और इस बदलते मौसम के कारण अलग-अलग ऋतुओं में इस धरती पर अलग-अलग तरह की आद्रता, तापमान, दिन रात का समय, पेड़-पौधों व जीव-जंतुओं और फसलों में परिवर्तन वगैरह अनेक प्रकार के बदलाव होते रहते हैं जिससे किसानों को भी खेती करने में आसानी रहती है और इन अलग-अलग बदलते मौसम के चलते भारत में अनेक तरह के अमूल्य जीव जंतु देखने को मिलते हैं जो विश्व में और कहीं पर भी नहीं मिलते हैं।

Rituo Ke Naam और ऋतु के बारे में विस्तृत जानकारी

ऊपर के लेख में सभी ritu ke naam hindi mein और इंग्लिश में पढ़े, लेकिन यहां पर उन सभी मौसम के नाम और उस ऋतुओं के बारे में विस्तार से समझते हैं।

1. वसंत ऋतु (Spring Season)

Rituo Ke Naam - 6 seasons name in hindi-english - (ऋतुओं के नाम)

spring season meaning in hindi बसंत ऋतु, हिंदू महीनों में इस ऋतु का समय चैत्र या चैत से लेकर वैशाख तक का रहता है। जबकि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस ऋतु का समय फरवरी महीने के मध्य से लेकर अप्रैल महीने के मध्य तक का रहता है।

spring season in hindi : इस ऋतु में सर्दियों का मौसम धीरे-धीरे कम होता जाता है और गर्मियों के मौसम का धीरे-धीरे आगमन होता है। इसीलिए basant ritu का मौसम बहुत ही रमणीय या यूं कहे कि बेहद ही खूबसूरत रहता है। पौधों तथा पेड़ों में नये फूल और पत्ते आने लगते हैं और उस पर तितलियां उड़ती हुई दिखाई देती है, कोयल की मधुर आवाज सुनने को मिलती है इसीलिए इन्हें सभी ऋतुओं का राजा भी कहते हैं। तो यह थी vasant ritu in hindi में जानकारी.

Related Post

2. ग्रीष्म ऋतु (summer season)

Rituo Ke Naam - 6 seasons name in hindi-english - (ऋतुओं के नाम)

summer season in hindi : भारत में ग्रीष्म ऋतु का मौसम (india summer season) ज्येष्ठ से लेकर आषाढ़ महीने तक का रहता है। जबकि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस ऋतु का समय अप्रैल महीने के मध्य से लेकर जून महीने के मध्य तक का रहता है।

about summer season in hindi: बसंत ऋतु का समय पूरा होने के बाद मौसम में परिवर्तन आने लगता है। यानी ग्रीष्म ऋतु धीरे धीरे शुरू हो जाती हैं और तापमान बढ़ने लगता है। वैसे तो अप्रैल के महीने से ही गर्मियों का एहसास आरंभ होने लगता है और ग्रीष्म ऋतु आने पर यानी गर्मियों में average temperature 38 ° C तक हो जाता है।

grishma ritu में दिन लंबे जबकि रातें बहुत छोटी हो जाती है। इस मौसम में दिन में तेज धूप के कारण हवाए भी गर्म हो जाती है जिन्हें लू भी कहते हैं। और तेज धूप के कारण तलाब तथा नदियां सूखने लगती है।

Related Post

3. वर्षा ऋतु (Rainy Season)

Rituo Ke Naam - 6 seasons name in hindi-english - (ऋतुओं के नाम)

वर्षा ऋतु (monsoon season) का समय हिंदू कैलेंडर के अनुसार आषाढ़ से लेकर श्रावन/सावन तक का रहता है। जबकि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस ऋतु का समय जून महीने के मध्य से लेकर अगस्त महीने के मध्य तक का रहता है।

varsha ritu में गर्मियां धीरे-धीरे कम होती जाती है और गर्मियों की ऋतू में तेज धूप में तपी धरती पर बारिश का आगमन हो जाता है। इस ऋतु में आसमान से तेज बारिश होती हैं और गर्मियों के कारण सूखे तालाबों और नदियों में एक बार फिर पानी बहने लगता है, पेड़ पौधे फिर से खिलने लगते हैं, खेतों में लगी फसलें तरोताजा हो जाती है। यानी इस मौसम में पूरी धरती खिल उठती है और चारों तरफ हरियाली ही हरियाली छा जाती है।

Related Post

4. शरद ऋतु (Autumn Season)

Rituo Ke Naam - 6 seasons name in hindi-english - (ऋतुओं के नाम)

autumn season शरद ऋतु का समय हिंदू कैलेंडर के अनुसार भादों/भाद्रपद से आश्विन माह तक का रहता है जबकि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस ऋतु का समय अगस्त महीने के मध्य से लेकर अक्टूबर महीने के मध्य तक का रहता है।

autumn season in hindi : इस ऋतु मे गर्मीया कम हो जाती है और शरद ऋतु के आने से प्रकृति अति शुद्ध और ख़ूबसूरत नजर आती है और संपूर्ण आकाश स्पष्ट और नीले रंग का हो जाता है, चारो दिशाओ मे असमान मे सफ़ेद बादल नजर आते है चारों दिशाओं में आसमान में सफेद बादल नजर आते हैं और ऐसा लगता है जैसे वे आपस में खेल कूद रहे रहे हैं। और सवेरे सवेरे घास पर लगी ओस की बूंदो को देखकर ऐसा लगता है जैसे इन पर मोती निकल आए है। इस ऋतु में पेड़ों से पुरानी पत्तियां टूट कर गिर जाती है और उन पर नई पत्तियां आने लगती है इसीलिए इसे पतझड़ का मौसम भी कहा जाता है।

Related Post

5. हेमंत ऋतु (Pre Winter Season)

Rituo Ke Naam - 6 seasons name in hindi-english - (ऋतुओं के नाम)

pre winter season in hindi हिंदू पंचांग के अनुसार इस ऋतु का समय कार्तिक मास से पौष मास तक का रहता है जबकि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस ऋतु का समय अक्टूबर महीने के मध्य से लेकर दिसंबर महीने के मध्य तक का रहता है।

about pre winter season in hindi में जाने तो सर्दियों से पहले आने वाली ऋतु को hemant ritu कहा जाता है। यानी इस ऋतु में ना ही अधिक गर्मी और ना ही अधिक सर्दी होती है। तापमान कम होता जाता है और धीरे-धीरे सर्दी के मौसम की शुरुआत इसी मौसम से ही होने लगती है। और जैसे-जैसे यह मौसम निकलता जाता है, वैसे वैसे ठंड और अधिक बढ़ती जाती है। हरे भरे पेड़ पौधे, खुशनुमा वातावरण और सवेरे सवेरे घास पर लगी ओस की बूंदों को देखकर ऐसा लगता है जैसे इन पर मोती निकल आए है। यानी इस ऋतु में मौसम अधिक सुंदर हो जाता है।

Related Post
☞ Hindi Numbers Counting (pdf) - हिंदी की गिनती

6. शीत ऋतु (Winter Season)

Rituo Ke Naam - 6 seasons name in hindi-english - (ऋतुओं के नाम)

shishir ritu का समय हिंदू माह के अनुसार माघ से लेकर फाल्गुन तक का रहता है जबकि अंग्रेजी महीनों के अनुसार इस ऋतु का समय दिसंबर महीने से फरवरी माह के मध्य तक का रहता है।

about winter season in hindi : शीत ऋतु जिसे शिशिर ऋतु भी कहा जाता है। यह मौसम फुल ठंड का मौसम होता है। कई पहाड़ी क्षेत्रों में तो बर्फ पड़ने के कारण ऐसा लगता है जैसे पूरा इलाका सफेद चादर में ढका हुआ है। सुबह के टाइम पेड़, पौधे घास पर लगी ओस की ओस की बूंदों को देखकर ऐसा लगता है जैसे मोती चमक रहे है।

कई लोगों को यह मौसम बहुत पसंद आता है क्योंकि यह मौसम बहुत ही खूबसूरत रहता है और ना ही गर्मी का टेंशन रहता है। इस मौसम में राते लंबी और दिन छोटे हो जाते हैं। और इस मौसम में सभी फल, फूल और सब्जियां आसानी से उपलब्ध रहती है।
  
यह पोस्ट भी पढ़े ☟
☞ भारत में कितने जिले हैं ? - 2021
☞ भारत में कितने राज्‍य हैं ? - 2021

Conclusion

यहां पर हमने आपको seasons name यानी ऋतुओं के नाम के बारे में बताया और इन सभी rituo ke naam को हमने टेबल के जरिए अच्छी तरह से समझाने की कोशिश की है जिसमें आपको seasons name in hindi और 6 season name in english में सभी ritu ke naam बताए गये है साथ ही इन सभी ऋतुओं के बारे में विस्तार से समझाने की कोशिश की है।

तो फ्रेंड्स! आपको हमारा यह लेख कैसा लगा आप हमें कॉमेंट के जरिए जरूर बताइएगा, आपके विचार हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। धन्यवाद! 
SHARE

Author: verified_user

I Am The Founder And Owner Of This Blog And I Write Articles In Hindi On Oll Topics In This Blog. So That People Who Read Hindi Can Be Helped.

0 comments: