Saturday, June 29, 2019

ईमेल क्या है ? - Email Kya Hota Hai जानिए Email Ka Matlab

SHARE
ईमेल क्या है - email kya hota hai के इस लेख में ई-मेल की पूरी जानकारी बताने का प्रयास किया गया है। क्योंकि कई लोग google email kya hota hai जैसे सवाल सर्च करते रहते हैं। तो इस बारे में आप ज्ञान रखते हैं तो अच्छी बात है अगर नहीं तो इस लेख में बने रहिए आपको ईमेल का मतलब समझ में आ जाएगा।
ईमेल क्या है ? - Email Kya Hota Hai जानिए Email Ka Matlab
ईमेल क्या है - email kya hota hai
आज के डिजिटल जमाने में ईमेल आईडी इंटरनेट पर हमारी पहचान बन चुकी है। और जिस व्यक्ति के पास अपना एक ईमेल आईडी नहीं है वह आज के इस इंटरनेट के डिजिटल युग में एक कदम पीछे हैं। हालांकि यह ज्यादातर लोगों के लिए एक आम बात बन चुकी है। क्योंकि ईमेल का यूज़ इन लोगों के लिए उनके दैनिक कार्यों और सेवाओं से जुड़ा रहता है।

लेकिन हम में से अधिकतर लोग अभी भी ईमेल से अवगत नहीं हैं उन्हें ईमेल और जीमेल मे क्या अंतर होता है यह भी नहीं पता है उन लोगों के लिए email kya hai in hindi मैं यह लेख विस्तार पूर्वक लिखा गया हैं।

जो लोग इंटरनेट का यूज करते हैं शायद वह सभी लोग ई-मेल के बारे में जानते ही होंगे। क्योंकि आज के समय में email की जरूरत हर जगह पर रहती है। फिर चाहे वह घर हो या कोई सरकारी काम क्योंकि आज के Technology के युग में हजारों काम कुछ ही पल में पूर्ण हो जाते हैं।

आजकल के कई ऐसे काम है जो टेक्नोलॉजी से जुड़े हैं वह काम करना बहुत इजी हो गया है और इसी टेक्नोलॉजी में जुड़ा हुआ है ईमेल, तो आज हम इसी Technology से जुड़े ईमेल की पूरी जानकारी के बारे में जानेंगे कि email kya hai और email ka matlab kya hota hai इत्यादि।

Email Kya Hai - ईमेल क्या होता है ?

कोई भी msg अथवा mail जब electronic माध्यम के द्वारा सेंड किया जाता हो उसे “E-Mail” कहते हैं।

ई-मेल की सहायता से आज के टाइम में हम बिना किसी डाक या पोस्ट के भी किसी भी Mail या msg को अपने स्मार्टफोन से दुनिया की हर जगह पर भेज सकते हैं। पहले के टाइम में किसी संदेश को एक जगह से दूसरी जगह पर भेजने के लिए कई दिन गुजर जाते थे क्योंकि तब हमारे पास एक मात्र choice थी पोस्ट या पोस्ट ऑफिस और आज के टाइम में हमारे पास ईमेल है, जिसके द्वारा संदेश भेजने और पाने के लिए पहले की तरह लंबा इंतजार करना नहीं पड़ता है। ईमेल के जरिए संदेश भेजना और प्राप्त करना उसी तरह की प्रक्रिया है जो हम पहले किसी पोस्ट ऑफिस से खत भेजते और मंगाते थे।

आज के इंटरनेट के युग में हम ईमेल के द्वारा दस्तावेजों (documents), मीडिया जैसी किसी भी फाइल सामग्री को बहुत ही इजी और फास्ट तरीके से भेज सकते हैं। और ईमेल में आपको असीमित स्पेस मिलता है आप जितना चाहे लिख सकते हैं। ई-मेल के जरिए हम हम से दूर रहने वाले हमारे परिवार जनों तक अपना संदेश कुछ ही सेकंड्‌स में उन तक पहुंचा सकते हैं।

Email Ka Matlab Kya Hota Hai

ईमेल का मतलब होता है Electronic mail जिसे शॉर्ट में हम (E-Mail) कहते हैं।

इसके नाम से ही पता चलता है जिसे किसी इलेक्ट्रॉनिक यंत्र (डिवाइस) से इंटरनेट के द्वारा भेजा और प्राप्त किया जा सकता है। यह कागज पर लिखे एक पत्र की तरह ही होता है। बस फर्क इतना होता है कि कागज के खत को कागज पर और ईमेल को कंप्यूटर या मोबाइल जैसे इलेक्ट्रॉनिक यंत्रों में लिखा जाता है।

मौजूदा समय में ईमेल का यूज़ बहुत ही अधिक होने लगा है और आने वाले समय में यह और भी अधिक प्रचलित होने वाला है क्योंकि यह सेवा बहुत ही सरल और आसान है। लगभग सभी प्राइवेट एवं सरकारी कंपनियां डाक्यूमेंट्स को भेजने और प्राप्त करने के लिए ईमेल का यूज करती है क्योंकि email के द्वारा लगभग सभी प्रकार की फाइलें जैसे text, photo, video, audio वगैरह आसानी से सेंड की जा सकती है।

Email Id Kya Hai - ईमेल आईडी क्या होती है?

E-mail Id अपना पता बोले तो एक पहचान होती है। किसके द्वारा किसी दूसरे व्यक्ति के ईमेल पते पर हम अपना संदेश उनको भेज सकते हैं और कोई दूसरा व्यक्ति उनका संदेश हमें हमारे E-mail Id पर भेज सकता है।

जिस तरह किसी को मैसेज भेजने के लिए एक मोबाइल नंबर की जरूरत पड़ती है बस उसी तरह ही ईमेल भेजने के लिए भी email id की जरूरत पड़ती है। सभी लोगों का अपना अलग-अलग ईमेल आईडी होता है और जब आप किसी को ईमेल भेजना चाहते हो तो आपको उस व्यक्ति का ईमेल आईडी मालूम होना चाहिए तभी आप उस व्यक्ति को ईमेल भेज पाएंगे।

यह पोस्ट भी पढ़ें
Gmail ID Kya Hai - जीमेल आईडी क्या होती है

Email Id कहां पर बनाए

Gmail, Outlook, Yahoo Mail, Hotmail, Reddifmail आदि Email Program प्लेटफार्म पर आप मुक्त में अपना Email Accouont बना सकते हैं।

उपर बताई हुई कुछ मुख्य वेबमेल सर्विस प्रोवाइडर कंपनी में आप E-mail A/c बनाकर के अपना Email ID बना सकते हैं। आपका Email A/c बन जाने के बाद यहां से आपको एक Email ID मिल जाती है। एक ईमेल आईडी में Username और Domain Name विशेष रुप से 2 पार्ट होते हैं। इन दोनों को मिलाकर एक Email ID बन जाती है. जिस प्रकार हमारी ईमेल आईडी hindihelpzone@gmail.com है जिसमें hindihelpzone को Username और @ के बाद हिस्सा Domain Name कहलाता है। और @ चिन्ह का यूज अनिवार्य रूप से उपयोग किया जाता है।

hindihelpzone@gmail.com इस ईमेल को google की सर्विस G-Mail पर बनाया गया है. gmail kya hai और gmail ka use kaise karte hai इस बारे में आप यहां से पढ़ सकते हैं और gmail id kaise banta hai इस बारे में नीचे बताया गया है।

E-mail का यूज करने के लिए जरूरी चीजें

  • Email का यूज करने के लिए पहले तो हमारे पास एक स्मार्टफोन या कंप्यूटर होना चाहिए
  • हमारे पास हमारा ईमेल Id होना चाहिए।
  • जिसको ईमेल भेजना है, हमारे पास उसकी ईमेल आईडी होनी चाहिए।
  • Email एक ऑनलाइन प्रोसेस है तो इनका यूज करने के लिए हमारे पास एक इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए।

Email Id Kaise Banate Hain

ईमेल आईडी आप फ्री में और बहुत ही आसानी से बना सकते हैं। इसके लिए पहले आप जिस जगह पर Email Id बनाना चाहते हैं, उस Platform को पसंद करले. ऊपर हमने कुछ मुख्य वेबमेल सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों के नाम बताए हैं।

उदाहरण के तौर पर यहां पर हम google के gmail पर अकाउंट बनाना सीखेंगे की Gmail ID kaise banate hai इसके लिए आप किसी भी ब्राउज़र में जाकर या crome browser में जाकर gmail.com लिखकर search करें।

यहां पर Create Account पर Click करके For myself पसंद करें और First Name, Last Name, Username, Password, और Confirm Password डालकर Next पर क्लिक करें।

अगले पेज में आपको Phone Number, Recovery email address जो की Optional रहेगा, Your Birthday और Gender सिलेक्ट करके next पर क्लिक करें।

इसके बाद आप Yes, I’m in पर Click करके अगले पेज Privacy and Terms पर agree बटन पर क्लिक करें अब आपकी Email Id बनके तैयार हैं।

Email Kaise Likhe - ईलमे में क्या लिखें और Email कैसे भेजे ?

ईमेल क्या है ? - Email Kya Hota Hai जानिए Email Ka Matlab
ई-मेल भी एक सामान्य लेटर के जैसा ही एक खत होता है। आपने एक सामान्य खत, चिट्ठी तो लिखी ही होगी वह याद करिए और मालूम कीजिए कि आप उसे लिखते वक्त क्या काम करते थे?

चलिए मैं बता देता हूं उस चिट्ठी या खत में पहले हम उस व्यक्ति का नाम लिखते हैं जिसे हमें चिट्ठी भेजनी है। उसके बाद उस व्यक्ति का पता यानी एड्रेस लिखते हैं और फिर उसे जो भी संदेश देना है उस बारे में लिखकर, भेजने वाले का नाम लिखकर उस खत को भेजने के लिए किसी पास के डाकघर (Post Office) के पोस्ट बॉक्स में डाल देते हैं और वह खत कुछ दिनों में उस व्यक्ति के पास चला जाता है।

बस इसी प्रकार ईमेल में भी आपको लिखना है। जैसा कि आप ऊपर फोटो में देख पा रहे हैं। आपको From, To, Subject जैसे ऑप्शन दिखाई दे रहे हैं जिसमें आपको कुछ इस प्रकार लिखना है।

From : यहां पर भेजने वाले का ईमेल एड्रेस देना है।

To : यहां पर प्राप्त करने वाले यानी Reciever का ईमेल एड्रेस देना है।

Subject : यहां पर आपको ईमेल किस बारे में है यह दो-तिन वर्ड में बताना है। ताकि प्राप्त करने वाला यह समझ सके कि इस ईमेल में क्या है और किस विषय में लिखा गया है।

Cmpose ail : यहां पर आप अपना मेन टॉपिक जो भी ईमेल लिखना चाहते हैं, वह लिख सकते हैं और फिर Sent के बटन पर क्लिक करके अपना ईमेल भेज सकते हैं।

Email के लाभ – Benefits of Email in Hindi

E-mail के लाभ सभी प्रकार के व्यक्ति को होता है पर यह बात आपके ऊपर Dependent करती है कि आप इसका किस तरीके से यूज करते हैं तो यहां पर हम कुछ normal फायदों के बारे में बताएंगे।

  • Email के जरिए हम दूर रहने वाले हमारे परिजनों से संपर्क में रह सकते हैं। उनको हम अपना कोई संदेश Email के द्वारा भेज सकते हैं।
  • पहले के टाइम में हमें किसी चिट्ठी का जवाब लेने और देने में कई दिनों तक लंबा इंतजार करना पड़ता था। वहीं पर अब E-mail के जरिए हम अपना संदेश तुरंत कुछ ही सेकंड या कुछ ही मिनटों में दे सकते हैं। और कुछ ही सेकंड या मिनिटो में किसी और का संदेश प्राप्त भी कर सकते हैं।
  • पोस्ट ऑफिस जाने की जरूरत नहीं रहती क्योंकि E-mail के द्वारा आप घर बैठे ही सीधे अपने मोबाइल या कंप्यूटर से किसी को अपना संदेश भेज सकते हैं।
  • Email के द्वारा लिखा हुआ संदेश उस कागज में लिखे हुए संदेश की तरह खो जाने और जल जाने का डर नहीं रहता। आपने भेजे हुए हर एक ईमेल की एक कॉपी Mail Server पर सेफ रखी जाती है।
  • E-mail की यह प्रोसेस बिल्कुल फ्री है बस आपके पास यह इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए। इसके अलावा नहीं आपको पेन या कागज की आवश्यकता रहेगी और ना ही पोस्ट ऑफिस का खर्च।
  • कागज में लिखते वक्त अगर आप से कोई गलती हो जाती है तो उसे फाड़कर नए कागज पर लिखना पड़ता है। जबकि ई-मेल में आप तुरंत उस गलती को सुधार सकते हैं आप अपने हिसाब से E-mail को लिख सकते हैं और मिटा भी सकते हैं और E-Mail में टाइम की भी कोई मर्यादा नहीं है आप लोग अपने हिसाब से चाहे तब तक लिख सकते हैं।
  • Email में लिखकर (शब्दों) में संदेश भेजने के साथ-साथ आप इनमें फोटोज, वीडियोज, गाना या फिर कोई दस्तावेज इत्यादि आप Email के जरिए भेज सकते हैं।
  • Email एक पूरी तरह से सिक्योर है। इस बारे मे जानकारी के लिए आप अपना Gmail Account Secure कैसे कर सकते हैं ? यह पोस्ट पढ़े यहां पर कोई तीसरा व्यक्ति आपके उस संदेश को पढ़ नहीं सकता।

यह पोस्ट भी पढ़े

Disadvantages of Email :

वैसे तो ईमेल का यूज करने के कोई नुकसान नहीं है। फिर भी कुछ कठिनाइयां आ सकती है, कुछ चीजों का हमें ध्यान रखना पड़ता है।

  • यदि किसी वजह से इंटरनेट कनेक्शन अक्षम है, तो ईमेल का यूज नहीं किया जा सकता है।
  • हमारे ईमेल अकाउंट में ज्यादातर mail ऐसे ही आते हैं जो हमारे लिए उपयोगी नहीं होते हैं। जिसमें कई कंपनियां सिर्फ advertisement वाले मैसेज ही भेजती रहती है जो हमारे लिए बिन उपयोगी होते हैं जिसे स्पैम (spam) कहा जाता है। और हमारे Inbox में इस प्रकार के spam mails अधिक हो जाने की वजह से जो हमारे काम के ईमेल हैं, उन्हें ढूंढना थोड़ा  कठिन हो जाता है।
  • Email सेंड करने वाले से हम भावनात्मक रूप से जुड़े नहीं होते हैं। इस परिस्थिति में यह जरूरी नहीं कि हमारे जरिए भेजे गए संदेश का जवाब हमें मिले।
  • वैसे तो यह सर्विस पूरी तरह से सेफ और सुरक्षित है फिर भी यह पूरी प्रक्रिया इंटरनेट पर Dependent होने की वजह से हो सकता है वायरस के खतरे का सामना करना पड़े। 

 

Note: यह लेख अति सावधानीपूर्वक लिखा गया है फिर भी किसी भी तरह की त्रुटि की संभावना को नकारा नहीं जा सकता. इस बारे में आपके विचार हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है।

Conclusion

इस लेख में हमने ईमेल क्या है - email kya hota hai एवं email ka matlab समझाया है, तो यह लेख आपको कैसा लगा आप हमें कमेंट के जरिए जरूर बताइएगा, आपके विचार हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है।

और अगर email kya hai - ईमेल क्या होता है और email ka matlab kya hota hai का यह लेख आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को ईमेल की जानकारी मिल सके। धन्यवाद!

SHARE

Author: verified_user

I Am The Founder And Owner Of This Blog And I Write Articles In Hindi On Oll Topics In This Blog. So That People Who Read Hindi Can Be Helped.

0 comments: